Best Tanhai Hindi Shayari 2022

रोते हैं तन्हा देख कर मुझको वो रास्ते, जिन पे तेरे बगैर मैं गुजरा कभी न था।

तेरे वजूद की खुशबु बसी है साँसों में, ये और बात है नजरों से दूर रहते हो।

हुआ है तुझसे बिछड़ने के बाद ये मालूम, कि तू नहीं था तेरे साथ एक दुनिया थी।

मीठी सी खुशबू में रहते हैं गुमसुम, अपने अहसास से बाँट लो तन्हाई मेरी।

ना ढूंढ़ मेरा किरदार दुनियाँ की भीड़ में, वफादार तो हमेशा तन्हा ही मिलते है

ज़िन्दगी के ज़हर को यूँ पी रहे हैं, तेरे प्यार के बिना यूँ ज़िन्दगी जी रहे हैं, अकेलेपन से तो अब डर नहीं लगता हमें, तेरे जाने के बाद यूँ ही तन्हा जी रहे हैं।

मेरी है वो मिसाल कि जैसे कोई दरख़्त, चुप-चाप आँधियों में भी तन्हा खड़ा हुआ।

कभी पहलू में आओ तो बताएँगे तुम्हें, हाल-ए-दिल अपना तमाम सुनाएँगे तुम्हें, काटी हैं अकेले कैसे हमने तन्हाई की रातें, हर उस रात की तड़प दिखाएँगे तुम्हें।